Breaking

8/15/2019

आधुनिकीकरण का अर्थ, परिभाषा, विशेषताएं और प्रभाव

आधुनिकीकरण (आधुनिकता modernisation)  

आधुनिकता का अभिप्राय जीवन के लगभग प्रत्येक क्षेत्र में समकालीन को परम्परागत से अगल समझना है। समाज के अन्तिम से अन्तिम मूल्यों के अनुसार रहने वाली वस्तु को आधुनिक कहते हैं। उस वस्तु के इस प्रकार के रहने के गुण अथवा स्थिति को हम आधुनिकता कहते है। आधुनिकीकरण की प्रक्रिया वैज्ञानिक ज्ञान के विस्तार का सूचक है।
आज के इस लेख मे हम आधुनिकता (आधुनिकीकरण) का अर्थ, आधुनिकीकरण (आधुनिकता) की परिभाषा, आधुनिकीकरण की विशेषताएं और आधुनिकीकरण (आधुनिकता) के प्रभाव के बारें में चर्चा करेंगे।
आधुनिकीकरण, आधुनिकता

आधुनिकीकरण (आधुनिकता) का अर्थ

आधुनिक शब्द अंग्रेजी के शब्द (modern) का हिन्दी रूपान्तरण है जिसका अभिप्राय है प्रचन या फैशन। आधुनिकीकर ण सामाजिक परिवर्तन की एक प्रक्रिया है जो वैज्ञानिक दृष्टिकोण व तर्क पर आधारित है। सैध्दांतिक तौर पर इसकी शुरूआत यूरोपीय ज्ञानोदय से हुई। आधुनिकता से तात्पर्य जो भी समकालीन है अर्थात् वर्तमान समय में चलन में है वही आधुनिक है चाहे वह अच्छा हो या बुरा।
आधुनिकता या आधुनिकीकरण के अर्थ को अच्छी तरह से समझने के लिए अब हम भिन्न विद्वानों द्वारा दी गई आधुनिकता की परिभाषा को जानेंगे। 

आधुनिकीकरण (आधुनिकता) की परिभाषा 

अलातास के अनुसार "आधुनिकीकरण एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा आधुनिक वैज्ञानिक ज्ञान का समाज में प्रचार एवं प्रसार होत् है। जिससे समाज में व्यक्तियों के स्तर में सुधार होता है और समाज तरक्की की और आगे बढ़ता है।"
डेनियल लर्नर के अनुसार "आधुनिकता प्रगति, उन्नति की और सम्पन्नता तथा अनुकूलन की तात्पर्यता से सम्बन्धित मन की आकांक्षाओं की एक अवस्था है।
श्यामाचरण दुबे के अनुसार "आधुनिकीकरण एक प्रकिया है जो परंपरागत या अर्ध्दपरंपरागत अवस्था से प्रौद्योगिकी के किन्ही इच्छित प्रारूपों तथा उनसे जुड़ी हुई सामाजिक संरचना के स्वरूपों, मूल्यों प्रेरणाओं और सामाजिक आदर्श नियमों की ओर से होने वाले परिवर्तन को स्पष्ट करती है।"

    आधुनिकीकरण (आधुनिकता) की विशेषताएं 

1. आधुनिकीकरण परिवर्तन की सार्वभौमिक प्रक्रिया है आधुनिकीकरण की प्रक्रिया सभी जगहो पर होती है।
2. आधुनिकीकरण (आधुनिकता) विज्ञान और प्रौद्योगिकी विकास की आत्मा है।  आधुनिकता से भिन्न प्रकार के ज्ञान और अनुभव में वृध्दि होती है।
3. आधुनिकीकरण में नगरीकरण  में वृध्दि, समानता, स्वतंत्रता तथा प्रजातांत्रिक मूल्यों को विकास होता है।
4. आधुनिकता आर्थिक तथा राजनीतिक सहभागिता में वृध्दि करती है।
5. आधुनिकता की प्रक्रिया में प्रचानी प्रथाओं रूढ़ियों तथा मूल्यों का विरोध होता है अतः आधुनिकीकरण में व्यावहारिक विज्ञान का विकास होता है।
6. आधुनिकीकरण में नये विचारों को स्वीकार किया जाता है।
7. आधुनिकता में प्रचानी प्रथाओं रूढ़ियों आदि की अपेक्षा वर्तमान व भविष्य में अधिक रूचि ली जाती है।
8. आधुनिकता (आधुनिकीकरण) में संस्कृति व धर्मनिरपेक्षता जैसे तत्वों का समावेश होता है।
9. आधुनिकीकरण सामाजिक संरचना में परिवर्तन लती है।
10. आधुनिकीकरण में शिक्षा का प्रसार होता है।

आधुनिकीकरण (आधुनिकता) के प्रभाव 

आधुनिकता का समाज और भारतीय जीवन पर प्रभाव इस प्रकार है---

 1. वैवाहिक संस्थाओं में परिवर्तन 
आधुनिकता के प्रभाव से अब पुरानी विवाह सम्बन्धित परंम्पराए समाप्त होने लगी है। पहले विवाह विच्छेद बहुत ही कम होते थे लेकिन आज आधुनिकता और पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव से विवाह विच्छेद अधिक होने लगे है। आधुनिकता एक अच्छा प्रभाव यह भी है की अब विधवापूर्नन विवाह को भी प्रोत्साहन मिलने लगा है। सती प्रथा समाप्त हो चुकी है।
2. आर्थिक प्रगति 
आधुनिकीकरण के परिणामस्वरूप आर्थिक क्षेत्र मे तेजी से प्रगति हो रही है। आधुनिक मशीने, उत्पादन में वृध्दि, नई तकनीको का प्रयोग आदि आधुनिकता का प्रभाव है।
3. स्त्रियों की स्थिति में परिवर्तन 
आधुनिकता के फलस्वरूप अब भारतीय समाज में स्त्रियां घर की चार दिवारी में बंद नही रही है अब उन्होंन पर्दा-प्रथा को तोड़ दिया है। अब भारतीय नारी शिक्षित और स्वतंत्र हो रही है अब वह आफिसों, बैंकों, औद्योगों आदि में पुरूषों के समान कार्य कर रही है।
4. बेरोजगारी में वृध्दि 
आधुनिकीकरण के फलस्वरूप मशीनीकरण भी तेजी से बढ़ रहा है। मशीनीकरण के कारण श्रमिकों को रोजगार नही मिल पा रहा है क्योंकि मशीनों के कारण श्रमिकों की कम आवश्यकता होती है।
5. औपचारिकता में वृध्दि 
आधुनिकीकरण से फलस्वरूप औपचारिक सम्बन्धों में वृध्दि हो रही है। औपचारिक सम्बन्धों के कारण घनिष्ठ संबंधों का अभाव बढ़ता जा रहा है। अब सामाजिक संबंधों में कृत्रिमता अधिक पायी जाती है।
6. पश्चिमीकरण
आधुनिकीकरण के कारण भारत में पश्चिमीकरण तेजी से हो रहा है। भारत में सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, शिक्षा, आदि सभी क्षेत्रो में पश्चिमीकरण के प्रभाव देखा जा सकता है।
7. नगरीकरण
 भारत में नगरीकरण तेजी से हो रहा है। नगरीकरण की इस प्रक्रिया से ग्रामीण जीवन भी प्रभावित हुआ है। ग्रामवासी अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु नगरों में जाने लगे है। नगरीकरण से भीड़-भाड़ अपराध, गंदी बस्तियों का भी जन्म हो रहा है। ये सभी प्रवृत्तियां आधुनिकता से सम्बन्धित है।
दोस्तों इस लेख में हमने आधुनिकीकरण (आधुनिकता) का अर्थ, परिभाषाएं, विशेषताओं और प्रभाव के बारें में विस्तार से जाना अगर इस लेख से सम्बन्धित आपका कोई विचार या सवाल है तो नीचे comment कर जरूर बताएं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें